कश्मीर की बर्फ़बारी में फँसे कांग्रेस नेता ने सेना से माँगी मदद, सेना ने माँगा फँसे होने का सबूत

election 2019

भारतीय सेना ने अपने गौरवशाली इतिहास में अब तक जो देश को पता है उसके हिसाब से 3 सर्जिकल स्ट्राइक किए हैं परंतु इन सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने के बाद हमारे देश के मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस एवं अन्य विपक्षी पार्टियों ने भी कई बार हमारी सेना से सबूतों की मांग की है

सेना से सबूत मांग कर यह राजनीतिक दल अपनी ओछी राजनीति की मिसाल देती आ रही है परंतु इस बार कुछ ऐसा हुआ के हर भारतीय को खुश होने का मौका मिल गया |

क्या है मामला

बात ऐसी है कि कांग्रेस पार्टी का एक तुच्छ मैया राजनेता जिसका नाम टॉफिक शर्मा है जो अमेठी का रहने वाला है वह जम्मू-कश्मीर में एक राजनीतिक पार्टी में हिस्सा लेने के लिए गया हुआ था जहां बर्फ के तूफान में उसकी गाड़ी फस गई अब वह इस मुसीबत में करता तो करता क्या तो उसने जम्मू कश्मीर के पुलिस प्रशासन एवं सेना से मदद मांगी

नेताजी की गाड़ी बर्फ में फस गई ऊपर से कड़ाके की ठंड मामले की गंभीरता को देखते ही सेना ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया परंतु जैसे ही देना को पता चला कि जो नेता पता है वह केंद्र कांग्रेस पार्टी का है तो इस पर नेताजी थे वहां पर फंसे होने का सबूत मांगा और सबूत ना देने की सूरत में मदद करने से भी मना कर दिया गया

सेना प्रमुख

परंतु इस बारे में जब सेना से पूछा गया तो सेना प्रमुख ने बताया कि उस स्थल के आसपास बहुत ज्यादा बर्फबारी हो रही थी और सेना को कैसे दुर्लभ स्थान पर पहुंचने से पहले हम लोग हर तथ्य की जांच पड़ताल करने के बाद ही वहां भेजते हैं इसीलिए हम नहीं उसे सबूत मांगे

हमें अपने सूत्रों से यह जानकारी मिली है कि सेना ने उन्हें था कुशल उनके घर पहुंचा दिया है परंतु हमें लगता है कि के सबूत मांगना कभी-कभी कितना खतरनाक भी साबित हो सकता है और हम उम्मीद करते हैं कि हमारी विपक्षी दल आगे से इस तरीके की कोई भी नीच हरकत नहीं करेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *