महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पर अर्पित करें 7 चीजें

Maha Shivratri

ऐसी मान्यता है कि महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव का विवाह हुआ था। शिवरात्रि पर भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना की जाती है। भक्त इस दिन शिवलिंग पर भोले शिव को प्रसन्न करने के लिए कई चीजें अर्पित करते हैं और पूरे दिन अपवास रखते हैं। यहां हम आुको बता रहे हैं ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में जिन्हें भोले शिव को अर्पित करने से मनचाहा वरदान मिलता है।

भगवान शिव को धतूरा अत्यंत प्रिय है इसलिए भगवान शिव की पूजा में धतूरा जरूर शामिल करना चाहिए।धतूरे के साथ धतूरे का फूल भी भगवान शिव को अर्पित करना अच्छा होता है। महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पर दूध या गंगाजल से भगवान शिव का अभिषेक करना बहुत उत्तम होता है। इसके साथ चंदन, बेलपत्र, बेर और गन्ने का रस, गेंहू, जौ, सफेद तिल चढ़ाने से अलग-अलग मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

1. दूध– भोले बाबा का दूध से अभिषेक करना अत्यंत ही पु्ण्यकारी माना गया है. दूध अर्पित करने से व्यक्ति सदैव स्वस्थ और रोग मुक्त रहता है. विष्णुपुराण के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान शिवजी ने सारा विष अपने कंठ में ग्रहण कर लिया था,जिसके चलते उनका पूरा शरीर नीला पड़ने लगा. तब सभी देवताओं ने उनका दूध से अभिषेक किया और विष का असर उन पर कम हो गया. तब से ही भगवान शिव को दूध अत्यंत ही प्रिय है.

2. जल– अगर ऊं नमः शिवायः का जाप करते हुए शिवलिंग पर जल अर्पित करेंगे तो आपका चित शांत होगा और आपके अंदर करुणा आएगी. मान्यता के अनुसार विष का प्रभाव कम करने के लिए देवताओं ने उनके ऊपर  जल डाला था. तब से उनको नीलकंठ  के नाम से सुशोभित किया गया.

3. चीनी- महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पर चीनी भी अर्पित की जाती है. इस पावन अवसर पर भोले बाबा को चीनी अर्पण करना लाभदायक है. इससे आपके घर में कभी यश, वैभव और कीर्ति की कमी नहीं होगी और उनका आर्शीवाद सदैव बना रहेगा.

4. केसर– लाल केसर से शिव जी का तिलक करने  से जीवन में सौम्यता आती है और मांगलिक दोष समाप्त होता है. ऐसा कहते है कि महाशिवरात्रि पर अगर अपने व्यापारिक दस्तावेजों पर केसर से तिलक करेंगे, तो सभी अड़चने दूर होंगी और धंधा कभी मंदा नहीं पड़ेगा.

5.इत्र– शिवलिंग पर इत्र छिड़कना शुभ माना गया है. इत्र के छिड़काव से हमारे मन की शुद्धि होती है और  हम तामसी प्रवतियों से मुक्त हो पाते हैं. भोले बाबा पर इत्र छिड़कने से भक्तों को सद्बुद्धि मिलती है और वो कभी भी सत्य की राह से नही भटकते.

6. दही– शिव जी को दही चढ़ाने से व्यक्ति परिपक्व बनता है और उसके जीवन में स्थिरता आती है. ऐसी भी मान्यता है कि अगर भोले बाबा को नियमित रूप से दही अर्पण किया जाए, तो  जीवन की सभी अड़चने, कठिनाइंया दूर होती है.

7. घी– देसी घी शक्ति का परिचायक है. इसलिए शिवलिंग पर घी से अभिषेक करने से व्यक्ति बलवान बनता है. संतान प्राप्ति के लिए भी भगवान शिव को घी चढ़ाए. ऐसा करने से घर में बच्चे की किलकारी अवश्य गूंजेगी.

8.चंदन– वेद पुराणों के मुताबिक महाकाल को चंदन लगाने से एक इंसान को आकर्षक रूप मिलता है और उसके जीवन में मान, सम्मान और ख्याति की कभी कमी नहीं आती .

9. शहद– शहद का अर्थ होता है मीठा. ऐसा माना जाता है भोले बाबा कभी भी किसी की तरफ किसी भी प्रकार का द्वेष नहीं रखते. तो शिव जी को शहद लगाने से वाणि में मधुरता आती है और दिल में परोपकार की भावना जागती है.

10. भांग- भगवान शिव और भांग का बहुत गहरा रिश्ता है. ऐसा कहा जाता है कि समुद्र मंथन के समय विष के प्रभाव को कम करने के लिए भांग का भी प्रयोग किया गया था. हमारे पुराणों में भांग को एक दिव्य औशधी के रुप में देखा गया है जिससे चमड़ी के रोगों का इलाज संभव है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *